मॉर्क ज़ुकरबर्ग

मॉर्क ज़ुकरबर्ग Biography in Hindi

मॉर्क ज़ुकरबर्ग
मॉर्क ज़ुकरबर्ग

दोस्तों आईये आज हम फेसबुक के मालिक मॉर्क ज़ुकरबर्ग के बारे में जानते है जहां पहुंचना एक सामान्य व्यक्ति के लिए सपने के जैसा है आज का युवा Facebook के मालिक मार्क जकरबर्ग की तरह बनना चाहता है .14 मई 1984 को मार्क जकरबर्ग का जन्म मार्ग को बचपन से ही कंप्यूटर का बहुत शौक था. जिसकी वजह से छोटी सी उम्र से ही कंप्यूटर के प्रोग्राम लिखने लगे थे .

उनके पिता उनको प्रोग्राम करने में बहुत मदद करते थे लेकिन मार्ग का दिमाग कितना तेज था उनके प्रश्नों का उत्तर नहीं दे पाते इसके कारण मॉर्क के लिए उन्हें कंप्यूटर टीचर बुलाया जो मॉर्क को रोजाना के प्रोग्रामिंग करता था . उनके बुद्धि का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है छोटी सी उम्र में कंप्यूटर टीचर को भी फेल कर दिया करते थे , वे उनकी उनकी बातों का जवाब नहीं दे पाते .

12 साल की छोटी उम्र में zuke नेट नाम का एक मैसेंजर बनाया जिसका इस्तेमाल घर से एप पिता के क्लिनिक में बात करने के करते थे . उसके बाद मॉर्क ने हावर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले लिया .

also read this:-एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ki motivational kahani

दोस्तो जिस समय बच्चे कंप्यूटर गेम खिला करते थे उस समय मॉर्क जकरबर्ग गेम बनाया करते थे . बाद में हावर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले लिया वह वह पर भी बेहद इंटेलिजेंट स्टूडेंट थे. उनके बुद्धिमानी को देखते हुए लोगों ने प्रोग्रामिंग एक्सपर्ट के नाम से बुलाना शुरू कर दिया था .

कॉलेज के दिनों में एक फेसबुक नाम की बुक हुआ करती थी ,जिसमे कॉलेज के स्टूडेंट के फोटो हुवा करती थी और कुछ ऐसा ही सोच कर उन्होंने फैश मैश नाम की एक वेबसाइट बनायीं ,जिसमे वो लड़के और लड़कियों की फोटो को कम्पेयर करते ,और दिखते थे कि दोनों में हॉट कौन है .ये वेबसाइट तो लड़को में बहुत famoush हुई ,लेकिन लड़कियों ने ऐसे आपत्ति जनक बता कर इसकी शिकायत की ,जिससे मॉर्क को डॉट भी सुननी पड़ी.

2004 में the फेसबुक नाम की वेबसाइट बनायीं, ये वेबसाइट अभी तक केवल हारवर्ड में ही फेमश थी, लेकिन धीरे -धीरे बहार के यूनवर्सिटी में भी फेमश होने लगी , तब मार्क ने ये deside किया की इसको अब बाहर के देशो में भी फैलाना है.

मॉर्क ने अपनी पढ़ाई बिच में छोड़ दी-

दोस्तों मॉर्क ने अपनी पढ़ाई बिच में छोड़ दी और पुरे मन से इसी में लग गए ,इन्होंने अपने टीम के साथ इसमें मन लगाकर काम किया.2005 में इसका नाम द फेसबुक से बदल कर सिर्फ फेसबुक कर दिया.

2007 तक फेसबुक पर लाखो बिज़नेस प्रोफाइल बन चुकी थी.अब वह समय आ गया था की फेसबुक दुनिया पर राज करे, और इस तरह मॉर्क बन गए थे इंटरनेट के सबसे बड़े बादशाह.मॉर्क ने जब फेसबुक बनायीं थी तो वो केवल 19 साल के थे,और इतनी सी कम उम्र में पूरी दुनिया को जोड़ कर रख दिया. और आज मॉर्क आज दुनिया के सबसे बड़े बिलिनियर में से एक है|

 

next

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *