सुरेश रैना

सुरेश रैना Biography

सुरेश रैना

आईये आज जानते है सुरेश रैना के जीवन के बारे में -सुरेश रैना एक भारतीय प्रोफेशनल क्रिकेटर है। वे बाएँ हाथ के मध्यक्रम बल्लेबाज है और कभी-कभी वे ऑफ-स्पिनर बॉलर भी बन जाते है। इसके साथ ही वे वर्ल्ड क्रिकेट के बेहतरीन फील्डरो में से एक है। डोमेस्टिक क्रिकेट में वे उत्तर प्रदेश की तरफ से खेलते है और इंडियन प्रीमियर लीग में वे गुजरात लायंस के कप्तान भी है।

उन्होंने कुछ समय के लिये भारतीय टीम की कप्तानी भी की है और सबसे कम उम्र में कप्तानी करने वाले वे दुसरे खिलाडी भी है। तीनो इंटरनेशनल फॉर्मेट में शतक मारने वाले दो भारतीयों में से सुरेश रैना एक है। वे एक ताबड़तोड़ टी20 बल्लेबाज माने जाते है। आक्रमक अंदाज़ की वजह से उनका टेस्ट करियर ज्यादा समय तक नही चल पाया।

रैना ने 2005 में उन्नीस साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय मैच में डेब्यू किया था। उन्होंने टेस्ट डेब्यू इसके पाँच साल बाद किया था, 2010 में इसी टीम के खिलाफ उन्होंने टेस्ट डेब्यू किया था। टेस्ट में अपने डेब्यू मैच में ही उन्होंने शतक मारा था। 2011 में विश्व विजेता इंडियन टीम के वे सदस्य थे।

सुरेश रैना के पिता मुरादनगर की ऑर्डनेन्स फैक्ट्री में काम करते है जबकि उनकी माता का नाम परवेश रैना है। वे उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद के शहर के राजनगर में रहते है। उन्हें तीन छोटे भाई दिनेश रैना, नरेश रैना और मुकेश रैना और एक बड़ी बहन रेनू भी है। सुरेश रैना का एक आर्टिकल 2012 में आयी किताब राहुल द्रविड़ : टाइमलेस स्टील में भी प्रकाशित किया गया था।

सुरेश रैना कैरियर

सन 2000 में रैना ने क्रिकेट खेलने का निर्णय लिया और तुरंत अपने घर मुरादनगर, गाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश चले गए। और वहाँ वे विशेष गवर्नमेंट स्पोर्ट कॉलेज में दाखिल हुए। इसके बाद वे उत्तर प्रदेश से अंडर-16 के कॅप्टन बने और सन 2002 में इंडियन सेलेक्टर्स की नजरे उनपर पड़ी। और पंद्रह साल की उम्र में ही उनका सिलेक्शन अंडर-19 की टीम के लिये कर लिया गया था और अंडर-19 मैचो में उन्होंने 2 अर्धशतक भी बनाये।

इसके बाद अंडर-17 की टीम के साथ वे श्रीलंका के टूर पर गए थे और जीतकर वापिस लौटे। इसके बाद उन्होंने आसाम के खिलाफ फरवरी 2003 में रणजी डेब्यू किया था, उस समय उनकी उम्र केवल सोलह साल की ही थी।

इसके बाद उन्होंने अंडर-19 की टीम के साथ पाकिस्तान टूर किया। और उनके प्रदर्शन को देखते हुए सिलेक्टर ने उनकी नियुक्ति 2004 के अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिये की गयी थी, इस वर्ल्ड कप में उन्होंने तीन अर्ध शतक लगाये थे, जिनके एक बार उन्होंने 38 गेंदों पर नब्बे रन भी बनाये थे।

इसके बाद ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट अकैडमी में प्रशिक्षण पाने के लिये उन्हें बॉर्डर-गावस्कर स्कालरशिप भी मिली थी। इसके बाद 2005 के शुरू में ही उन्होंने लिमिटेड-ओवर की श्रेणी में डेब्यू किया था और उस सीजन में उन्होंने 53.75 के एवरेज से 645 रण बनाये थे।

3 अप्रैल 2015 को सुरेश रैना ने प्रियंका चौधरी से शादी की थी। उनकी बेटी ग्रासिया रैना का जन्म चौदह मई 2016 को एम्स्टर्डम, नीदरलैंड में हुआ। फिल्म मीरुथिया गैंगस्टर के लिये सुरेश रैना ने अपनी आवाज़ भी दी है।

 

विराट कोहली Biography and Struggle Story

 

 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धियाँ

• टी20 में शतक बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज बने।

• खेल की तीनो श्रेणियों में शतकवीर बनने वाले पहले भारतीय।

• डेब्यू में ही टेस्ट शतक बनाने वाले बारहवें वे भारतीय।

• टी20 और एकदिवसीय दोनों वर्ल्ड कप में शतक मारने वाले पहले भारतीय।

• टी20 करियर में 6000 या उससे भी ज्यादा रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाडी।

डोमेस्टिक स्तर पर

  • आईपीएल में 3000 रन बनाने वाले पहले खिलाडी।
  • आईपीएल में सौ या उससे ज्यादा छक्के मारने वाले पहले भारतीय और विश्व के दुसरे बल्लेबाज।
  • आईपीएल में सर्वाधिक कैच पकड़ने का रिकॉर्ड, उन्होंने कुल 52 कैच पकडे है।
  • आईपीएल में सौ या उससे ज्यादा छक्के मारने वाले पहले भारतीय और विश्व के दुसरे बल्लेबाज।
  • 7 आईपीएल सीजन में 4000 या उससे भी ज्यादा रन बनाने वाले पहले और एकमात्र बल्लेबाज।
  • आईपीएल, CLT20 और टी20 तीनो में शतक ठोकने वाले पहले और एकमात्र भारतीय बल्लेबाज।
  • आईपीएल के इतिहास में अब तक का सर्वाधिक स्ट्राइक रेट का रिकॉर्ड उनके नाम है।
  • 4 अक्टूबर 2014 को वे CLT20 में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाडी बने।
  • अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स के लिए रैना ने सभी मैच खेले है।

                                                          |  धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *